गुरुवार, 25 अगस्त 2016

सोच की बुनियादों पर टिकी मंजिल

सोच की बुनियादों पर टिकी मंजिल
आपकी सोच जितनी उची होगी , आपके लक्ष्य जितने महान होंगे , उतना आप जीवन में प्राप्त कर लेते हैं |
संकुचित विचारधारा से उप्लभ्धियां छोटी मिलती है | असफल वयक्तियो के संकल्प और मांग बहुत छोटी होती है |
सफल वयक्ति बढे सपने देखते हैं |
Apple, Microsoft आदि जैसे संस्थान बहुत छोटे से प्रारम्भ हुए लेकिन सपने ऊँचे होने के कारण उप्लभ्धियां बढ़ी हासिल कर सके | यदि लक्ष्य और सपने उचे हो तो प्रयास भी अधिक बढे और उचे होंगे।
loading...

एक कहानी जो हमेशा याद रखने योग्य है 

जार्ज रात्रि देर तक पढ़ते रहे | अगले दिन देर तक सोते रहने के कारण क्लास में देर से पहुंचे | ब्लैकबोर्ड पर टीचर ने दो सवाल लिखे थे |  जार्ज ने उन्हें कॉपी में उतार लिया और कई घंटे की मेहनत के बाद उन्होंने उन सवाल को हल कर दिया |
बाद में पता चला की टीचर ने उन प्रश्नों के बारे में बताया था की Einstein भी इन सवालो को हल नहीं कर पाए थे | जार्ज ने यह बात सुनी नहीं थी | यदि सुन ली होती तो इन सवालो को हल नहीं कर पते क्यों की उनकी सोच का दायरा सिमित हो जाता | असीमित सोच  के साथ उत्साह और लगन के सहारे वो इन सवालो को हल करने में सफल हो गए |
हम सभी के अंदर अद्भुत अपार आंतरिक शक्ति विधमान है |
उन शक्तियों को जाग्रत करना है . आप के सामने कोई शेर आ जाये तो आप इतना तेज़ दौड़ेंगे की ओलम्पिक के दवक आपसे पीछे रह जाएंगे ऐसे ही बढ़ी चुनौतियां अंदर छिपी शक्तियों को जगा देती हैं |
” अच्छे विचारों को आपके दिमाग में ज्यादा समय मिलेगा तो कुछ ही दिन में आपके जीवन में एक सकारात्मक बदलाब आ जाएगा | विचारों की शक्ति महान है इससे हमारा जीवन तो बदलता ही है संसार का नक्शा तक बदल जाता है ”
कहा जाता है कि व्यक्ति की सोच जितनी बड़ी होती है उतनी ही उसकी कामयाबी भी हिती है। अगर इसी की साथ उसका उतना ही दृढ़निश्चय हो तो उसका आधा कार्य उसी समय हो जाता है।
इसी के साथ मुझे एक बात याद आ गयी―
"सपने वो नहीं होते जो हम नींद में देखते है सपने वो होते है जो नींद उड़ा देते है"

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Search anything here

Follow by Email