रविवार, 1 जनवरी 2017

गुस्सा करने के नुकसान और काबू करने के उपाय

क्रोध एक प्रचंड अग्नि है, जो मनुष्य इस अग्नि को वश में कर सकता है वह उसे बुझा देगा, जो मनुष्य अग्नि को वश में नहीं कर सकता वह स्ंवय अपने को जला लेगा!!

अक्सर बुरे और गलत काम गुस्से मे ही होते है। गुस्से मे हम वो कर जाते है जो हमने कभी सोचा भी नहीं होगा। कभी कभी तो गुस्सा बना-बनाया काम बिगाड़ देता है। यू कहे तो गुस्सा हर बुरे काम की जड़ है। गुस्सा दिमाग की वो स्थिति है जिसमे वह(जीव) अपने दिमाग का संतुलन खो बैठता है। कुछ लोगो के दिमाग का संतूलन जब घडबड़ाता है तो जल्द ही लौट आता है पर धीरे-धीरे वह अगर गुस्से पर काबू नहीं करे तो ये गुस्सा उस पर भरी पड सकता है। 12 से 18 वर्षी की आयु मे गुस्सा सर्वाधिक पाया जाता है। इससे देखा गया है की युवा गुस्से ही गुस्से मे कई बार गलत काम कर देते है जिससे उन्हे अहसास बाद मे होता है। अगर गुस्से पर काबू पाना है तो हमे कोई खास तरकीब अपनानी चाहिए।
जब भी हुमे गुस्सा आए तब उसे कंट्रोल मे रखने के लिए हमे इसके लिए खास प्लान बनाए रखना चाहिए और हमे दिमाग मे ये सोच बनाई रखनी चाहिए की अगर मुझे गुस्सा आ जाए तो मे इस बात को याद करूंगा और ये काम करूंगा। इस बात को एकदम फिट कर देनी चाहिए। ताकि जब भी गुस्सा आए तब उस काम को सोचने मे लगजाए जो हमने तय किया था। इस तरफ जैसे ही आप सोचेंगे तब तब तक कुछ पलो मे हमारा गुस्सा उतार जाएगा। भले ही कहने मे ये आसान हो पर करने मे कठिन है। शुरुआत मे आपको ये थोड़ा अटपटा और बोरिंग जरूर लगेगा पर जब आपको इसकी आदत हो जाएगी तो स्वतः ही ये काम आपका दिमाग करने लगेगा। मुझे जब भी गुस्सा आता है तो मे पानी अगर पास हो तो उसे पी लेता हु या ये सोच लेता हु की फालतू गुस्से से क्या मिलेगा?’ ये सोचते ही मेरा गुस्सा काफी हद तक कम हो जाता है। इस तरह हम गुस्से को काफी हद तक कंट्रोल मे रख सकते है।
क्रोध एक प्रचंड अग्नि है,
जो मनुष्य इस अग्नि को वश में कर सकता है
वह उसे बुझा देगाजो मनुष्य अग्नि को वश में
नहीं कर सकता वह स्ंवय अपने को जला लेगा!!

गुस्सा करने से आपके स्वास्थ्य पर कैसा असर होता है, जानिए...
1.क्रोध आने पर मस्तिष्क में ऐसे रासायनिक तत्व बनते हैं, जिनका शरीर और मन पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
2.आंखें लाल हो जाती हैं तथा हार्ट में जलन हो सकती है।
3. ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।
4. आक्रामक भावनाएं उत्पन्न होती हैं।
5. सोच-विचार की शक्ति कमजोर हो जाती है।
6.तनाव बढ़ता है।
7.लगातार क्रोध करने से पाचन तंत्र कमजोर होता है, जिससे एसिडिटी, कब्ज, भूख नहीं लगना जैसे रोग हो सकते हैं।
8.क्रोध से नींद नहीं आती, जिससे स्वास्थ्य पर बुरा असर होता है।
यहां जानिए क्रोध पर काबू पाने के कुछ तरीके...
1.शास्त्र कहते हैं कि क्षमा से ही क्रोध को जीता जा सकता है। यानी हमें लोगों को माफ करने का गुण अपनाना चाहिए।
2.क्रोध पर काबू पाने के लिए धैर्य और समझदारी होना बहुत जरूरी है। जब भी क्रोध आए तो धैर्य रखकर उसे रोकें, कुछ भी बोलने से पहले विचार करें कि आप क्या कहने या करने जा रहे हैं और उसका क्या परिणाम होगा।
3.क्रोध के संबंध में हमेशा सावधान रहें। अपने क्रोध के कारणों को समझें और उनसे बचने का प्रयास करें।
4.जब भी क्रोध आए तब मुंह में मिश्री रख लेना चाहिए। जैसे-जैसे मिश्री पिघलेगी, क्रोध भी खत्म होता जाएगा।
5.गुस्से को काबू करने के लिए हर रोज मेडिटेशन करना चाहिए।

loading...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Search anything here

Follow by Email