बुधवार, 17 मई 2017

जानिये कैसे लूट रहे है Oppo और Vivo

क्यों और कैसे लूट रहे है Oppo और Vivo - internetinfo.in
अगर आप नया मोबाइल लेना चाहते है और किसी दुकान पर मोबाइल लेने जा रहा है व दुकानदार आपको Oppo और Vivo मोबाइल लेने को बता रहा है तो बिलकुल मत लेना क्योकि इसके निम्न कारण है―

पहला कारण

Oppo और Vivo दोनों ब्रांड एक ही कंपनी के है जो One Plus मोबाइल भी बनाती है मतलब ये नाम बदलकर हमें बेवकूफ बना रहे हैं।

दूसरा कारण

दोनों ही ब्रांड के मोबाइल की वास्तविक price उतनी नहीं है जितनी वो हमें बेच रहे है मतलब Vivo V5 की MRP लगभग 25000 रूपये के आसपास है लेकिन हमें जो मोबाइल मिल रहा है उसकी किम्मत 20 हजार रूपये के आसपास है।
मोबाइल को ज्यादा में बेचने का कारण मार्केटिंग में लगा पैसे को रिकवर करना है।

तीसरा कारण मार्केटिंग

अभी अगर आप बाजार जाये तो आपको हर जगह Oppo और Vivo के बोर्ड नजर आएंगे तो ऐसा क्यों? ऐसा इसलिए की इसके लिए दुकानदार को हर महीने 30 से 40 हजार रूपये मिलते है।
इसके अलावा भी दुकानदार को हर मोबाइल को बेचने पर बाकी कंपनियों के मुकाबले 3 गुना ज्यादा मतलब 700 से 900 रुपयो के बीच कमीशन मिलता है।

इसके अलावा कुछ अन्य कारन फ़ालतू विज्ञापन, प्रचार भी है।

loading...

आखिर क्यों हमें नहीं खरीदने चाहिए Oppo और Vivo के मोबाइल


  1. Oppo और Vivo के मोबाइल में 4 GB RAM बताया जाता है पर जो RAM है को ख़राब कैटेगरी की होती हैं। जो वास्तव में high कैटेगरी की होनी चाहिए थी।
  2. दोनों ही ब्रांड(एक कंपनी) लगभग Mediatek का प्रोसेसर use करती है जो स्नैपड्रैगन से सस्ता होता है।
  3. वास्तविक किम्मत से ज्यादा पैसे मांगे जा रहे है और सारे विज्ञापन का बोझ ग्राहकों पर डाला गया है।
  4. जो जरुरी सेंसर जैसे कंपोज़ सेंसर,360° सेंसर होने चाहिए वो नहीं है।
  5. केवल कैमरा को बताया जा रहा है मतलब 20 MP moon light कैमरा तो अगर आप मोबाइल खरीद रहे है तो जितना अधिक कैमरा होगा उतने ही अच्छे पार्ट्स जैसे RAM, प्रोसेसर होने चाहिए और दुकानदार मेगा पिक्सेल की तुलना अच्छे फोटो से करते है तो वो गलत है। जितना ज्यादा MP का केमेरा होगा उतना फोटो बड़े साइज का होगा न की कितना स्पष्ट है वो बताया जा रहा है। और फोटो क्लियर इसीलिए Vivo और Oppo के मोबाइल में स्पष्ट आता है क्योंकि उस मोबाइल का सॉफ्टवेर बढ़िया होता है
तो सब मिलाकर दो अलग-अलग ब्रांड के नाम को चलाकर लोगो को बेवकूफ बनाकर मोबाइल बेचे जा रहे है।

यही काम Samsung भी अपने J series के मोबाइल में भी कर रही है। यकीं मानो तो Samsung भी अपने J1,J2,J3,J3 PRO,J5,J7 PRIME,J7 में भी ये काम कर रही है। ओर तो इसने जो most काम के सेंसर है वो भी निकाल दिए है जैसे auto ब्राइटनेस, कंपास sensor आदि। और Samsung अपने J सीरीज में जो सबसे घटिया प्रोसेसर use करती है जिसे चायनीज़ कंपनिया भी काम में नहीं लाती है जबकि Samsung अपने खुद के प्रोसेसर भी बनाती है।


अगर आपको मोबाइल लेना है तो एक बढ़िया मोबाइल ले जैसे - Samsung S7,S8,C9, Note 4,5
और बजट में चाहिए तो
शियोमी(Mi) Redmi Note 4,4A and Note 5 5 (Mi) के मोबाइल ले क्योकि इनकी क्वालिटी बढ़िया है।

तो विज्ञापन और कैमरे के चक्कर में आकर फ़ालतू पैसे नही बिगाड़े।

जागो ग्राहक जागो
-------------------
आपका कर्तव्य है कि अपने भाई बधुओं को इस भ्रम से निकाले और सही मार्ग दिखाये।
Oppo-Vivo
लूट
पर्दाफाश

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Search anything here

Follow by Email